अतिथि भवन

2

समिति में विभिन्न कार्यों से प्रचारक, केन्द्र व्यवस्थापक, साहित्यकार तथा अनेक गणमान्य व्यक्ति आते रहते हैं जिन्हें अतिथि भवन तथा रोहित कुटी में ठहरने की सुविधा उपलब्ध है। रोहित कुटी में पहले भदंत आनंद कौसल्यायनजी रहते थे। उनके नाम पर ‘रोहित कुटी’ ‘आनंद कुटी’ के नाम से जानी जाती है।